ADG वुमेन पावर लाइन पहुंची वाराणसी, छात्राओं को किया जागरूक

ADG वुमेन पावर लाइन पहुंची वाराणसी, छात्राओं को किया जागरूक

वीमेन पावर लाइन 1090 निरन्तर महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षार्थ 24 घंटे कार्यशील है। इस इकाई में उपलब्धियों का ग्राफ निरन्तर बढ़ रहा है। यही वजह है कि महिलाओं में जागरूकता बढ़ी है। जहां वर्ष 2017 में कुल दर्ज शिकायतों की संख्या– 2,21,943 थी, वहीं वर्ष 2018 में कुल 2,66,005 शिकायतें दर्ज की गयी। इस सेन्टर में साइबर बुलिंग की शिकायतें 2017 में 3,990 और 2018 में कुल 17056 शिकायतें दर्ज हुई। जो कि गत वर्ष की अपेक्षा 4 गुना से भी अधिक है। दर्ज शिकायतों के निस्तारण का प्रतिशत 99.99 रहा है, जो यह दर्शाता है कि यह इकाई बहुत ही उत्तरदायित्वपूर्ण ढंग से अपने कार्य का सम्पादन कर रही है। बताते चलें कि गत गुरुवार को बालिकाओं में जागरूकता हेतु पावर एजेंट प्रोग्राम कमिश्नरी हॉल, वाराणसी में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में 300 पॉवर एजेंट ने प्रतिभाग किया

स्कूल, कॉलेज की छात्राओं को छेड़खानी की घटनाओं के संबंध में जागरूक करने तथा शिकायतों को 1090 पहुंचाने के उद्देश्य से पॉवर ऐजेन्ट योजना प्रारम्भ की गयी। इस योजना के अन्तर्गत छात्राओं को पॉवर एंजिल, छात्रों को पॉवर हीरो एवं प्रधानाचार्यों, अभिभावकों को पॉवर गार्जियन बनाया जा रहा है। आगामी समय में यह योजना महिलाओं व लड़कियों की सुरक्षा की दिशा में प्रभावी भूमिका अदा करेगी। इससे प्रदेश की महिलाओं में न केवल जागरूकता आयेगी बल्कि वह अपनी सुरक्षा स्वयं करने में सफल होंगी। 1090 की ओर से चलाई जा रही इस महत्वाकांक्षी योजना “पॉवर एजेंट” के माध्यम से प्रदेश के सुदूर कोने तक जागरूकता आयेगी। इसी कड़ी में 15000 “पॉवर एजेंट” बनाये जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें:पावर एजेंट प्रोग्राम कार्यक्रम का अयोजन, 300 एजेंट हुए शामिल

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि के रूप में अंजु गुप्ता, अपर पुलिस महानिदेशक, वीमेन पॉवर लाइन 1090/ महिला सम्मान प्रकोष्ठ, उप्र उपस्थित रहीं। श्रीमती गुप्ता ने वीमेन पॉवर लाइन की कार्यप्रणाली के सम्बंध में बताया गया कि 1090 में प्रदेश के किसी कोने से पीड़िता कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं। कॉल महिला कर्मी द्वारा ही सुना जाता है, तथा पीड़िता की पहचान गोपनीय रखी जाती है। साथ ही पावर एन्जिल को लड़कियों के प्रति होने वाले अपराधों के बारे में जागरूकता प्रदान की गयी। उनको इसके लिए भी तैयार किया कि वह अन्य लड़कियों को भी इस सम्बंध में जागरूक करें। इसके लिए उन्हें वीमेन पॉवर लाइन 1090 की प्रचार सामग्री वितरित की गयी। जिसके माध्यम से वह जनपद में स्थित विभिन्न स्कूल, कॉलेजों में जाकर प्रचार सामग्री के माध्यम से साइबर बुलींग के बारे में जागरूक कर सकें तथा 1090 के बारे में भी जानकारी दे सकें।

कार्यक्रम का उद्देश्य वीमेन पॉवर लाइन 1090 के द्वारा लड़कियों के विरूद्ध होने वाले अपराध, साइबर अपराधों के बारे में जागरूक करना तथा स्वयं की रक्षा हेतु सक्षम बनाना है। इसके साथ ही इन पॉवर एंजिल्स द्वारा अन्य महिलाओं एवं बालिकाओं को जागरूक करने हेतु प्रेरित करना है। इस कार्यक्रम को यूनिसेफ, साइबर पीस फॉउण्डेशन, महिला सम्मान प्रकोष्ठ एवं वीमेन पॉवर लाइन 1090 द्वारा आयोजित किया गया।

इनपुट: विकास वाराणसी

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos