logo

ये जनाब दारोगा साहब के बेटे हैं, इसलिए असलहों के साथ गैंग में चलते हैं!

ये जनाब दारोगा साहब के बेटे हैं, इसलिए असलहों के साथ गैंग में चलते हैं!

वो कहते हैं न सैयां भये कोतवाल तो डर काहे का, लेकिन मेरठ में इस कहावत में कुछ बदलाव है। दरअसल, यहाँ बाप भये दारोगा तो डर काहे का ज्यादा सटीक बैठ रही है क्योंकि दारोगा साहब के बेटे की गुंडई की चर्चे हर तरफ होने लगे हैं। आलम ये है कि जनाब गैंग बनाकर चलते हैं, लोगों को ठोकते-पीटते भी हैं।

ये है पूरा मामला 

मेरठ जिले के सिविल लाइन इलाके में दारोगा के बेटे मोहित के गिरोह का आतंक है। ये सभी लाठी-डंडों के साथ अवैध असलहों से ये लैस रहते हैं। सोमवार को दारोगा के बेटे और उसके साथियों द्वारा नाबालिग छात्र की पिटाई का एक वीडियो वायरल हो गया।

जानकारी के मुताबिक, मुजफ्फरनगर जिले में तैनात दारोगा मनोज कुमार का इकलौता बेटा मोहित उर्फ गोलू है। मोहित व उसके कई साथी एक नाबालिग छात्र को पकड़कर सर्किट हाउस लाते हैं। मोहित पहले छात्र से पूछताछ करता है और फिर मोहित और उसके साथी छात्र को बेहरमी से पीटने लगते हैं।

मुक्के और लाठी डंडों की उस पर बरसात शुरू हो जाती है। छात्र अपनी जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाता रहता है, लेकिन वे नहीं माने। छात्र के मुंह पर पेशाब तक करने की कोशिश की जाती है।

यह भी पढ़ें  #लखनऊ : गर्मी का बहाना बना कर सड़क के साथ चौकी से भी नदारद रहने लगे पुलिसकर्मी!

सबके लिए एक है कानून 

इस मामले में जब एसपी सिटी डॉ. अखिलेश नारायण सिंह से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि गुंडागर्दी करने वाला एक युवक दारोगा का बेटा बताया गया है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। कानून सबके लिए एक है।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)    

Related News

Videos