logo

वीडियो : लावारिस बच्ची की अंगुली थाम घर लाये थे दारोगा, पिता बनकर किया कन्यादान

वीडियो : लावारिस बच्ची की अंगुली थाम घर लाये थे दारोगा, पिता बनकर किया कन्यादान

उत्तर प्रदेश पुलिस जन सुरक्षा के लिए तो बहुत कुछ करती है, वहीं कई बार पीड़ित और फरयादियों की ड्यूटी से हटकर भी मदद करती नजर आती है। लेकिन कोई पुलिसकर्मी अगर उस पीड़ित को अपने घर का सदस्य ही बना ले और उनकी हर जिम्मेदारी अपने कंधों पर उठाकर एक पुलिसकर्मी नहीं बल्कि एक पिता की तरह उसे निभाये तो ये न केवल वर्दी का मान बढ़ाने बल्कि इंसानियत को जिंदा रखने की दिशा में भी कारगर प्रयास होता है।

दारोगा लावारिश बच्ची के लिए बन बैठे भगवान: 

ऐसा ही एक सफल प्रयास लखनऊ के थाना गुडंबा थाने में तैनात दारोगा अखिलेश मिश्रा की उपलब्धी बन गयी। एक दस साल की लावारिस बच्ची को न केवल उन्होने बचाया, बल्कि उनको अपने जीवन और परिवार का हिस्सा बना कर उसकी जिंदगी संवार दी। वहीं जब वह बच्ची बड़ी हो गयी तो एक पिता बन उसका कन्यादान भी किया।

गुडंबा थाने में आठ साल पहले तैनात हुए दारोगा ने बच्ची को लिया गोद: 

दरअसल, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के थाना गुडंबा में अखिलेश मिश्रा की आठ साल पहले तैनाती हुई थी, इस दौरान उन्हें लखनऊ में एक दस साल की मासूम बच्ची लावारिस अवस्था में मिली थी। दारोगा अखिलेश मिश्रा ने बच्ची के परिवार को ढूढ़ने की भरसक कोशिश की, लेकिन कुछ पता न चला।

Also Read : #Lucknow खून देकर पुलिसकर्मियों ने बचाई जान, #IG ने किया सम्मानित और कहा- शाबाश

बच्ची को नाम दिया तनु:

बच्ची भी अपने घर का पता नहीं बता पाई, ऐसे में दारोगा उस मासूम को अकेला या किसी संस्थान के भरोसे न छोड़ सके। उन्होंने बच्ची की ऊंगली थामी और अपने घर ले आये। दारोगा ने बच्ची को नाम दिया ‘तनु’।

पिता बन बच्ची का किया कन्यादान, खाकी का बढ़ाया मान:

दारोगा ने एक पिता कि तरह तनु की परिवरिश की और फर्ज को निभाते हुए उसकी धूमधाम से शादी करवाई। वर्दीधारी पिता ने अपनी जिम्मेदारी का कन्यादान कर न खाकी का मान और गर्व को और बढ़ा दिया। उस मासूम के लिए तो दारोगा अखिलेश मिश्रा ही भगवान बन गये।

Input- Salman 

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos