छावनी में तब्दील हुआ रामजानकी मन्दिर, सीओ विनीत सिंह ने लिया सुरक्षा का जायजा

छावनी में तब्दील हुआ रामजानकी मन्दिर, सीओ विनीत सिंह ने लिया सुरक्षा का जायजा

रायबरेली के ऊंचाहार क्षेत्र के बाबा का पुरवा गांव स्थित राम जानकी मंदिर बुधवार को छावनी मे तब्दील रहा।मंदिर के पुजारी बाबा प्रेमदास की हत्या में आरोपितों द्वारा मंदिर मे पुजा अर्चना की घोषणा को देखते हुए सीओ विनीत सिंह की टीम काफी सतर्क रही, लेकिन कोई भी आरोपित गांव नहीं आया।

ये था मामला 

दरअसल, राम जानकी मंदिर की बेशकीमती जमीन के लालच में हर रोज़ नया बवाल हो रहा है। करीब दस दिन पहले मंदिर परिसर मे तीन बोलेरो सवार लोगों ने धावा बोलकर पुजारी के साथ मारपीट व तोड़फोड़ किया था। इस मामले मे मंदिर के पूर्व पुजारी बाबा प्रेमदास की हत्या मे आरोपित बी एन मौर्य और राम स्वरूप दास समेत अन्य लोगों के विरुद्ध गंभीर धाराओ मे मुकदमा दर्ज किया गया था।

उसके बाद राम स्वरूप दास ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर 19 जून से मंदिर मे पूजा अर्चना शुरू करने की घोषणा की थी। राम स्वरूप दास के इस मांग को जिला प्रशासन ने स्वीकार नहीं किया था। मंदिर मे कोई अनहोनी न हो और शांति बनी रहे, इसको लेकर प्रशासन काफी सतर्क रहा। बाबा का पुरवा गाँव का मंदिर ही नहीं बल्कि पूरा गाँव छावनी मे तब्दील रहा। गांव से बाहर बनी प्रेमदास की समाधि के पास भी भरी पुलिस बल तैनात था।

मंदिर पर कब्जे की हो रही कोशिश

जानकारी के मुताबिक, राम जानकी मंदिर पर कब्जे को लेकर अब दो गुटों में रस्सा कसी चल रही है। 2 जनवरी को बाबा प्रेमदास की हत्या के बाद से मंदिर की पूजा पाठ बाबा गोविंद दास कर रहे है, इनको मौनी बाबा का सरंक्षण प्राप्त है।

यह भी पढ़ें : जब मासूम की हत्या से पहले पुलिस वाले ने जाहिर की रेप की इच्छा, कठुआ कांड का पूरा सच !

उधर प्रेमदास की हत्या में नामित राम स्वरूप दास की जमानत हो गयी है, तो उनके पीछे लगे कुछ भू माफिया उनको प्रेरित करके मंदिर पर कब्जा करवाना चाहते है। ताकि इसी बहाने मंदिर की बेशकीमती भूमि पर कब्जा किया जा सके। इसी रस्साकसी मे आए दिन बवाल हो रहा है।

राम जानकी मंदिर मे कब्जे को लेकर हो रहे बवाल से ग्रामीण ख़ासा आक्रोश है। बाबा का पुरवा गांव की करीब दो हजार आबादी है। पूरा गांव मंदिर और संतो की सुरक्षा को लेकर काफी संवेदन शील है।

बुधवार को गाँव मे पुलिस बल को देखकर ग्रामीण काफी आक्रोशित थे, ग्रामीणो का कहना था कि यदि किसी ने मंदिर और संतो की तरफ आँख उठाई तो ग्रामीण उसका हिसाब चुकता कर देंगे। गांव के राजेश कुमार , आलोक, सूरजदीन ने बताया कि चोरी छिपे प्रेमदास की हत्या कर दी गयी है, अब ग्रामीण सजग है। यदि अब कोई इधर आया तो गाँव के लोग निपट लेंगे।

इन थानों की फोर्स रही तैनात

बुधवार को बाबा का पुरवा गाँव मे जिले के 17 थानो से फोर्स बुलाई गयी थी। इसके अलावा एक प्लाटून पीएसी लगाई गयी थी। जिले के थाना शिवगढ़, सरेनी, गुरुबक्सगंज,  खीरो, डलमऊ, जगतपुर,  गदागंज, डीह, नासीराबाद और महिला थाना के थाना प्रभारियो को तैनात किया गया था।  जबकि अन्य थानो से फोर्स लगाई गयी थी। इस दौरान सीओ विनीत सिंह लगातार पूरे गाँव मे घूमते रहे।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos