logo

दंगाइयों जरा बच के, अब RRF सिखाएगी सबक

दंगाइयों जरा बच के, अब RRF सिखाएगी सबक

चुनाव के बाद भी यूपी में माहौल बिगाड़ने वालों की अब खैर नहीं। दरअसल, प्रदेश के प्रत्येक पुलिस जोन में दंगाइयों से निपटने के लिए जल्द ही पीएसी की रैपिड रिस्पांस फोर्स (आरआरएफ) का गठन किया जाएगा। इसके लिए शासन को रिपोर्ट भेज दी गई है।

प्रेस कांफ्रेंस में बताया ये.. 

जानकारी के मुताबिक, एडीजी पीएसी गुरुवार शाम को 15वीं बटालियन पीएसी पहुंचे थे। प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि पीएसी के जवानों को हर चुनौती से निपटने के लिए तैयार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : #लखनऊ : विभूतिखंड में चोरों का आतंक, पुलिस हो रही फेल

बता दें कि सीआरपीएफ की आरएएफ की तरह ही प्रदेश में छठी वाहिनी मेरठ का रैपिड रिस्पांस फोर्स (आरआरएफ) के रूप में गठन कई साल पहले किया गया था।  इस फोर्स की वर्दी और प्रशिक्षण दोनों अलग हैं। इसकी अधिसूचना जारी कराने के लिए शासन को रिपोर्ट दी गई है।

इसी के साथ बता दें कि उत्तर प्रदेश में पुलिस के आठ जोन हैं। आरआरएफ की अधिसूचना जारी होने के बाद हर जोन में एक-एक वाहिनी आरआरएफ की खड़ी की जाएगी। इसके लिए तैयारी पूरी है। इसके बाद संसाधन, उपकरण और प्रोत्साहन भत्ते भी मिलने लगेंगे। इसके अलावा यूपी में बदायूं, गोरखपुर और लखनऊ में महिला पीएसी की वाहिनी बनाई जानी है।

नयी जमीन लेकर पीएसी के 11 हजार नए जवानों का प्रशिक्षण जल्द शुरू हो जाएगा। वर्ष 2020 के मध्य में यह जवान पीएसी को मिल जाएंगे।

तीन महिला बटालियन भी बनेंगी 

प्रदेश के सभी 8 जोन में आरआरएफ (RRF) की एक-एक बटालियन का गठन किया जाएगा। इसके साथ ही 3 महिला बटालियन की प्रक्रिया भी जारी है, जो कि लखनऊ, गोरखपुर और बदायूं में बननी हैं। वहीं, इस साल 11 हजार नये जवान पीएसी को मिल जाएंगे।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos