logo

ad
यूपी पुलिस में जल्द होगी 50 हजार सिपाहियों की भर्ती

ओपी सिंह, डीजीपी उत्तर प्रदेश

यूपी पुलिस में जल्द होगी 50 हजार सिपाहियों की भर्ती

उत्तर प्रदेश पुलिस में करीब 50 हजार और सिपाहियों की भर्ती होगी। यूपी के पुलिस मुखिया ओम प्रकाश सिंह ने बुधवार को यह बात सिद्धार्थनगर में पुलिस लाइन में क्राइम ब्रांच भवन का लोकार्पण करने के बाद कही। उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं के लिए पुलिस बल में अपार संभावनाएं हैं। साथ ही एक लाख सिपाहियों की भर्ती का लक्ष्य रखा गया है, 42 हजार रिक्रूटों की ट्रेनिंग चल रही है। इसके लिए जालौन और सुल्तानपुर में दो और ट्रेनिंग सेंटर खोले जा रहे हैं।

दरअसल, बुधवार को डीजीपी ओपी सिंह ने सिद्धार्थनगर पुलिस लाइन में क्राइम ब्रांच भवन का लोकार्पण किया। इसके डीजीपी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए तकनीक व कुशलता पर आधारित पुलिसिंग के बारे में कई अहम बातें बताईं।

विभाग में बड़े पैमाने पर नई भर्तियां

बेरोजगार युवाओं के लिए पुलिस भर्ती पर डीजीपी ने कहा कि पुलिस बल में बेरोजगार युवाओं के लिए अपार संभावनाएं हैं। विभाग में जल्द ही बड़े पैमाने पर नई भर्तियां की जाएगी। साथ ही महिला बटालियन का स्थापना की जाएगी। शामली में अतिरिक्त पीएसी बटालियन स्थापित करने के संबंध में शासन स्तर से पत्राचार किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें:आज आगरा में आएंगे PM, सुरक्षा को तैनात यूपी पुलिस

तकनीक व कुशलता पर आधारित पुलिसिंग

डीजीपी ने कहा कि तकनीक व कुशलता पर आधारित पुलिसिंग होगी। आज लोगों का पुलिस पर भरोसा बढ़ा है। पुलिस के कड़े तेवर देखकर अपराधी जेल में जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि त्यौहारों के दौरान कहीं भी कोई दंगा नहीं हुआ, सभी त्योहार सकुशल सम्पन्न किये गए। सांप्रदायिक सौहार्द को कायम रखा गया।

महिला सुरक्षा व सम्मान के लिए पुलिस कटिबद्ध

इस दौरान डीजीपी ने कहा कि महिला सम्मान के हितों की रक्षा करने के लिए पुलिस कटिबद्ध है। इसके लिए ऑपरेशन आत्म सुरक्षा व डिस्ट्रॉय चलाया जा रहा है, जिसमें छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए जा रहे हैं। ‘आपरेशन आत्मरक्षा’ में छात्राओं के साथ महिलाओं को सशक्त बनाया जा रहा है। आपरेशन डिस्ट्राय में आश्लील साहित्यों को नष्ट करने का काम किया गया है।

ये भी पढ़ें: लखनऊ में बहरूपियों का आतंक, सहायक समीक्षा अधिकारी की चैन उड़ाई

अपराध के ग्राफ में तेजी से आई कमी

उन्‍होंने कहा कि तेजी से बढ़ से साइबर अपराध पर कंट्रोल करने के लिए आईआईटी कानपुर और बीट्स पिलानी जैसी इंजीनियरिंग संस्थान से मदद ली जा रही है। लोगों को थाने का चक्कर लगाने से छुटकारा दिलाने के लिए ‘पुलिस कॉप ऐप’ को लांच कर दिया गया है, जिस पर प्राथमिकी भी दर्ज की जाएगी। इस ऐप से ही कुल 28 बिंदुओं की जानकारी मिलेगी। एक सप्ताह के भीतर 50 हजार लोगों ने इस ऐप को डाउनलोड किया है।

1090 योजना का भी विस्तारण

उन्होंने कहा कि 1090 योजना को भी विस्तारित किया गया है। ‘आपरेशन मुस्कान’ में खोये हुए बच्चों को घर पहुंचाने का काम किया गया। संगीन अपराधों में कुल 3236 कार्रवाई की गई। 7480 गिरफ्तारी की गई और 71 बड़े अपराधियों के खिलाफ एनकाउंटर जैसी कार्रवाई हुई, जो कि प्रदेश के बड़े इनामिया अपराधी रहे।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो करें)

Related News

Videos