आगरा: अभिरक्षा में लगे सिपाहियों को पता नहीं चला और कैदी फरार हो गया

आगरा: अभिरक्षा में लगे सिपाहियों को पता नहीं चला और कैदी फरार हो गया

यूपी के आगरा जिले में अभिरक्षा में तैनात सिपाहियों को ये पता ही नहीं चला कि कैदी कब और कहां से फरार हो गया। जिला कारागार से गुरुवार को सुबह को दीवानी पेशी पर आये कैदी के फरार होने के बाद हड़कंप मच गया। इसकी जानकारी शाम को बंदियों को जिला कारागार में दाखिल करने के दौरान की गई गिनती पर हो सकी। कैदी का नाम असलम बताया जा रहा है।

सिपाही को नहीं लगी भनक, कैदी फरार

कागारौल निवासी कैदी असलम पुत्र असगर सामूहिक दुष्कर्म, एससी-एसटी एक्ट में 12 फरवरी को जेल में दाखिल कराया गया था। चार जुलाई को उसकी कोर्ट में पेशी होनी थी। जेल में बंद कैदियों के साथ असलम को भी दीवानी भेजा गया था।

ये भी पढ़ें: #वाराणसी : चार्ज लेते ही एक्शन में कैंट थानाध्यक्ष राजीव सिंह, सड़कों पर उतर बनाई हनक

दर्ज होगा मुकदमा

दरअसल, जिला कारागार से कोर्ट में पेश करने के लिए दो गाड़ियों से 107 बंदियों को लाया गया था। एक गाड़ी में 55 तो दूसरी में 52 बंदी थे। एक गाड़ी में 55 बंदी पूरे जिला जेल पहुंचे। वहीं दूसरी गाड़ी में चार नए आरोपी और थे। उन्हें भी दाखिल किया जाना था। मगर, उसमें असलम नहीं था। इस पर मामले की जानकारी हो सकी।

पुलिस लाइन से पुलिसकर्मी बंदियों को लेकर गए थे। शाम को पुलिस बंदियों को जेल में दाखिल करने के लिए लाई थी। जब बंदियों की गिनती की गई तो असलम नहीं था। इस पर जेल प्रशासन ने पुलिस कर्मियों को जानकारी दी। मामला अधिकारियों तक पहुंच गया।

आजमगढ़ से भी फरार हुआ कैदी

आपको बता दें कि गुरुवार देर शाम आजमगढ़ से भी एक कैदी फरार हो गया है, जिसे ढूंढने के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos