logo

छेड़खानी होने पर खामोश रही पुलिस और फिर जला दी गयी एक निर्भया

छेड़खानी होने पर खामोश रही पुलिस और फिर जला दी गयी एक निर्भया

यूपी महिलाओं के लिए रेप, छेड़खानी का गढ़ बन चुका है। हालात बद से बदत्तर और उसमें सुधार का कोई अंश नहीं। एक बार फिर एक ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर आपके पैरो तले जमीन खिसक जाएगी। जी हां, मामला सीतापुर (sitapur)  जिले के तंबौर थाना का है जहां छेड़खानी का विरोध करने पर एक छात्रा को युवकों ने जिंदा जला दिया।

पुलिस ने नहीं की सुनवाई

घटना की जानकारी मिलते ही आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। जिसके बाद पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत को गंभीर बताया। डॉक्टरों के मुताबिक पीड़िता 80 प्रतिशत जल गई है। वहीं परिजनों ने पुलिसवालों पर आरोप लगाते हुए बताया कि अगर पुलिस समय पर सुनवाई कर लेती तो दबंगों की इतनी हिम्मत नहीं पड़ती।

यह भी पढ़ें: कानपुर: फैमिली डॉक्टर की शर्मनाक करतूत से गई बच्ची की जान

कुछ दिनों पहले दुष्कर्म का किया प्रयास

दरअसल, कुछ दिन पहले आरोपी रामू और उसके साथी ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की लेकिन युवती के विरोध ने दबंगों को भागने प मजबूर कर दिया था। इसकी शिकायत युवती के भाई द्वारा तंबौर थाने में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की तहरीर दी थी, लेकिन पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की।

युवती पर डाला मिट्टी का तेल, लगाई आग

इसके बाद दबंगों ने एक बार फिर जब पीड़िता शौच के लिए गई तो कुछ लोगों ने  उसे पकड़कर उस पर मिट्टी का तेल डाल दिया और आग लगा दी। इसके बाद वह फरार हो गए। घटना के बाद आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया और लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टर ने उसकी हालत गंभीर बताई।

फरार आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और फरार हुए आरोपियों की तलाश कर रही है। परिजनों का कहना है कि अगर समय पर पुलिस ने कार्रवाई  कर दी होती ये नौबत नहीं आती।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो करें)

Related News

Videos