logo

मुरादाबाद: फाइनेंस-इन्वेस्टमेंट कंपनी के जरिये सिपाही ने लगाया करोड़ों का चूना!

प्रतीकात्मक चित्र

मुरादाबाद: फाइनेंस-इन्वेस्टमेंट कंपनी के जरिये सिपाही ने लगाया करोड़ों का चूना!

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, प्राप्त जानकारी के मुताबिक, आरोपी सिपाही ने फांइनेंस व इन्वेस्टमेंट कंपनी के नाम पर कई लोगों को करोड़ों रूपये  का चूना लगाया है। पीड़ितों की मानें तो, सिपाही के खिलाफ मामला दर्ज करवाने के बाद भी उस पर कोई कार्रवाई नही की गई है। जिसका असर ये है कि, वो सिपाही खुलेआम घूम रहा है और उन पैसों पर ऐशो-आराम की ज़िन्दगी गुजार रहा है और ठाठ से अपनी नौकरी भी कर रहा है।

पूरा मामला:

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महानगर में मझोला थाना क्षेत्र के प्रकाश नगर निवासी कांस्टेबल चेतन सिंह बिजनौर में कोर्ट मुहर्रिर के पद पर कार्यरत है। आरोप है कि, चेतन सिंह और उसकी पत्‍‌नी सुनीता के अलावा पुत्र हर्ष ने कथित तौर पर फाइनेंस व इन्वेस्टमेंट कंपनी खोली और अपने ही करीबियों को 12 फीसदी ब्याज का लालच देकर करोड़ों रुपये जमा करा लिए।

मामले में आरोपित दंपति की ही रिश्तेदार रीता देवी की मानें तो, उनसे 1,50,000 रूपये जमा करवाए गए थे। वहीं, संतोष देवी ने 2,20,000 रूपये और नीतू ने 50,000 रुपये जमा किए थे। पीड़िता महिलाओं की मानें तो, कुछ दिन बाद ही उन्हें धोखाधड़ी का पता चल गया था। बीते सात अप्रैल को पीड़ित महिलाएं जब रूपये की रकम वापिस मांगने के लिए प्रकाश नगर दंपति के घर पहुंची तो, सिपाही और उसकी  पत्नी ने रूपये लौटाने से इंकार कर दिया।

इतना ही नहीं, पीड़ित महिलाओं के साथ मारपीट भी की गई। पीड़ित महिलाओं ने जिसकी गुहार मझोला थाने में भी लगाई थी और आरोपी दंपति समेत उनके बेटे के खिलाफ मामला दर्ज भी कराया था, लेकिन आरोप है कि, अभी तक मामले में पुलिस द्वारा कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। मझोला पुलिस ने अपने दायित्वों से पल्ला झाड़ लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, अभी तक मुकदमे की रिपोर्ट बिजनौर पुलिस को भी मुहैया नही कराई गई है।

ये भी पढ़ें: थर्मल प्रिंटर से चालान काटेगी लखनऊ पुलिस, हुई शुरूआत

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos