गोरखपुर जेल में शिफ्ट किया गया पाकिस्तानी जासूस, ISI से ली थी ट्रेनिंग

गोरखपुर जेल में शिफ्ट किया गया पाकिस्तानी जासूस, ISI से ली थी ट्रेनिंग

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जेल में सेंट्रल जेल से दो पाकिस्तानी जासूस को शिफ्ट किया जा रहा है। दोनों को हाई सिक्योरिटी बैरक में रखा जाएगा। जासूसों के नाम गुड्डू और भूरा उर्फ इमरान है। पाकिस्तान, करांची के वाले मोहम्मद मसरूर उर्फ गुड्डू (37) को एटीएस ने 13 अगस्त 2008 को बहराइच के रुपईडीहा में जासूसी, देशद्रोह, जालसाजी और साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

कौन हैं ये पाकिस्तानी जासूस

जानकारी के मुताबिक 2013 में उसे आजीवन कारावास की सजा हुई थी। तभी से वह फैजाबाद जेल में बंद था। साल 2015 में उसे वाराणसी सेंट्रल जेल में भेजा गया था। मुरादाबाद का रहने वाला बदमाश भूरा उर्फ इमरान (42) को 2006 में पुलिस ने हत्या, हत्या के प्रयास और डकैती के मामले में गिरफ्तार किया था। इस मामले में उसे आजीवन कारावास की सजा हुई है।

भूरा वाराणसी सेंट्रल जेल में सजा काट रहा था। कैदियों को उकसाने और जेल में विद्रोह करने की साजिश रचने पर शनिवार की रात दोनों को गोरखपुर जेल में शिफ्ट कर दिया गया। वरिष्ठ जेल अधीक्षक डॉ.रामधनी ने बताया कि वाराणसी सेंट्रल जेल से दो कैदियों को रात में गोरखपुर जेल लाया गया। दोनों को हाई सिक्योरिटी बैरक में रखा गया है।

ये भी पढ़ें: इस आईपीएस अधिकारी को मिला DGP का अल्टीमेटम!

पाकिस्तानी जासूस मो.मसरूर ने 2005 में आइएसआइ से ट्रेनिंग ली थी। इसके बाद रमेश  चौधरी के नाम से फर्जी वीजा, पासपोर्ट तथा ड्राइविंग लाइसेंस के साथ नेपाल के रास्ते भारत आया था।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos