बाहर से बुलाये गये पुलिसकर्मी निकले निकम्मे, स्थानीय पुलिस ने संभाली कमान

बाहर से बुलाये गये पुलिसकर्मी निकले निकम्मे, स्थानीय पुलिस ने संभाली कमान

लखनऊ की सुरक्षा और शांति व्यवस्था को सम्भालने के लिए बाहर से बुलाई गयी पीएसी नकारा साबित हुई। दरअसल एक सड़क दुर्घटना के बाद भड़की भीड़ को देख कर भी पीएसी के जवान तमाशा देखते रहे। कोई जवान वर्दी उतार हवा खाने में लगा हुआ था तो कोई खैनी रगड़ने में। हालाँकि मामला स्थानीय पुलिस ने ही मौके पर  पहुँच कर सम्भाला।

लखनऊ की सुरक्षा और शांति व्यवस्था के लिए बाहर से बुलाई गयी पीएसी नकारा:

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आगामी त्यौहार और राष्ट्रीय पर्व को लेकर यूपी पुलिस विभाग मुस्तैद है। वहीं सुरक्षा व्यवस्था कको और मजबूती देने के लिए राजधानी में बाहर से पीएसी जवानों को बुलाया गया और उनकी तैनाती की है।

पी.ए.सी खड़ी देखती उग्र भीड़ का तमाशा

लेकिन पीएसी इन दौरान आम जनता के कितने काम आई या राजधानी की सुरक्षा और शांति व्यवस्था सम्भालने में कितनी लायक निकली, इसका पता तो थाना ठाकुरगंज क्षेत्र में देखने को मिला।

ये भी पढ़ें: चार दिन राजधानी में निकले संभल कर वरना होगी परेशानी, इन रास्तों से न गुजरें 

पी.ए.सी कर्मी खाते रहे हवा, रगड़ते रहे खैनी

दरअसल, थाना ठाकुरगंज के पेट्रोल टंकी के पास सड़क हादसा हो गया। एक्सीडेंट के बाद भाग रहे कार चालक को लोगों ने दौड़ा कर पकड़ लिया। कार चालक और लोगों के बीच बहस शुरू हो गयी। वहीं आरोपी चालक के अभद्रता करने पर भीड़ उग्र हो गयी। मामला बेहद गंभीर हो गया।

स्थानीय पुलिस ने सम्भाला मोर्चा:

लेकिन गौरतलब ये रहा कि वहां मौजूद पीएसी तमाशा देखती रही, न तो किसी पीएसी जवान ने उन्हें रोकने की कोशिश की और न ही किसी तरह की कोई कार्रवाई करना ही मुनासिब समझा। बहरहाल जानकारी होते ही स्थानीय पुलिस ने मोर्चा संभाला और मौके पर पहुँच कर घायल को अस्पताल में भर्ती करवाया। वहीं भीड़ को शांत करवाते हुए आरोपी पर कार्रवाई शुरू कर दी।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos