‘श्रीमान जी, इतना लजीज खाना अपनी बेटी की शादी में बारातियों को परोसियेगा’

‘श्रीमान जी, इतना लजीज खाना अपनी बेटी की शादी में बारातियों को परोसियेगा’

जब लोकसभा चुनाव की शुरुआत हुई थी तो प्रशासन ने ये दावा किया था कि चुनाव को सकुशल निपटाने के लिए जितने भी सुरक्षाकर्मी और मतदानकर्मी तैनात किये जायेंगे सबके लिए उच्च कोटि का खाना, ठंडा पानी और ठहरने की उचित व्यवस्था भी की जायेगी। 19 मई को चुनाव का आखिरी चरण भी सकुशल निपट गया लेकिन पुलिसकर्मियों को तब भी ऐसा खाना नहीं मिला जिसको खाया जा सके। इसी के चलते एक लेटर प्रशासनिक अफसरों के लिए लिखा गया है, जिसको सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।

लेटर में लिखा है ये…

इस लेटर में लिखा हुआ है कि, ‘श्रीमान थाना प्रभारी चील्ह जनपद मिर्जापुर,

‘श्रीमान जी, चुनाव में लगी फ़ोर्स को आपके द्वारा लजीज और उच्च कोटि का स्वादिष्ट भोजन मुहैया कराया गया, जिसे देखकर सभी कर्मचारियों के मुहं से पानी तक बह निकला और पानी बहता गया। इतना पानी बहा कि मतदान केंद्र पर लबालब पानी भर गया। इससे पहले की बाढ़ आ जाए यह भोजन आपको सप्रेम वापस भेज रहा हूँ क्योंकि एक कर्मचारी को ऐसा लजीज भोजन हजम नहीं होगा। इसे देख देख कर मुह से पानी निकलता ही रहेगा। इस भोजन को इस आशा के साथ वापस भेज रहा हूँ कि इसका प्रयोग आप अपनी पुत्री-पुत्र की शादी में मेहमानों को खिलाने के लिए करेंगे। बेचारा कर्मचारी इस शाही भोजन को खाने का आदी नहीं है।’

आपके थाना क्षेत्र में चुनाव ड्यूटी के लिए आया एक कर्मचारी धन्यवाद।’

यहाँ भी हो गया घोटाला 

वैसे तो लेटर काफी की मजाकिया अंदाज में लिखा गया है लेकिन ये काफी गंभीर विषय है. जिसकी वजह भी बेहद ही ख़ास है। कई जगह खाना काफी अच्छा था तो कई जगहों पर सड़ा हुआ… ऐसे में सवाल बस एक ही उठता है कि आखिर कैसे सुरक्षा कर्मियों के खाने में घोटाले ने सेंधमारी कर दी?

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें) 

Related News

Videos