logo

26 साल से प्रमोशन की राह देख रहे जवान फिर करेंगे CM से मुलाक़ात

26 साल से प्रमोशन की राह देख रहे जवान फिर करेंगे CM से मुलाक़ात

सशस्त्र पुलिस बल में तैनात हेड कांस्टेबल पिछले 26 साल से प्रमोशन की राह देख रहे हैं लेकिन अबतक उन्हें पदोन्नति नहीं मिली है। इस बाबत मुख्यमंत्री के निर्देश होने के बाद भी विभागीय खींचतान में पदोन्नति प्रस्ताव के फंसे होने के चलते जवान सीएम योगी से एक बार फिर मिल कर उनके संज्ञान में मामले को लायेंगे।

उत्तर प्रदेश में बीते 26 सालों के दौरान कई विभागों में लोग बाबू से अफसर बन गए तो कुछ सिपाही से दारोगा। लेकिन सशस्त्र पुलिस बल में तैनात हेड कांस्टेबल जहां से चले थे आज भी वहीं खड़े हैं। इनके प्रमोशन के लिए सीएम योगी ने आदेश भी जारी कर दिए थे उसके बावजूद भी अधिकारियों ने तेजी नहीं दिखाई।

विभागीय खींचतान में फंसा प्रस्ताव 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद भी सशस्त्र पुलिस के हेड कांस्टेबलों की प्रोन्नति के मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री के निर्देश पर मुख्य सचिव ने गृह व पुलिस विभाग के अधिकारियों को इस सम्बन्ध में जरुरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

ये भी पढ़ें: इमरजेंसी नंबर डायल 112 से जुड़ा यूपी 100, जनवरी से होगी शुरुआत

डीजीपी मुख्यालय ने मांगी थी जानकारी: 

इसके बाद डीजीपी मुख्यालय के कहने पर पीएसी मुख्यालय ने जहाँ ये पुलिसकर्मी तैनात हैं, उन विभागों में उप निरीक्षक और निरीक्षक के रिक्त पदों की जानकारी मांगी थी, जो समय पर मुहैया नहीं कराई जा सकी।

जवान एक बार फिर सीएम के संज्ञान में लायेंगे मामला:

इन पुलिस कर्मियों का कहना है कि उन्हें दो दशक से अधिक समय से प्रोन्नति नहीं दी गयी है, जबकि नागरिक पुलिस के उनके समकक्ष कर्मियों को इस बीच दो बार प्रोन्नति मिल चुकी है। इन पुलिस कर्मियों ने कई बार आला पुलिस अफसरों के सामें मुद्दा उठाया लेकिन कार्रवाई नहीं हुईं।

यह पता लगने पर कि मामला विभागीय खींचतान में फंसा है सशस्त्र पुलिस के हेड कांस्टेबलों ने मामले को एक बार फिर मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाने का फैसला किया है।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो करें)

Related News

Videos