बसपाइयों ने आपस में की हाथापाई, पूर्व जिलाध्यक्ष समेत दस पर केस दर्ज

बसपाइयों ने आपस में की हाथापाई, पूर्व जिलाध्यक्ष समेत दस पर केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में पार्टी बैठक के दौरान बसपाइयों में जमकर मारपीट हुई। जिसमें नेताओं ने एक दूसरे पर कुर्सियां तक फेंकनी शुरू कर दी, वहीं चाक़ू भी निकल आये। हंगामे के बाद बैठक को स्थगित कर दिया गया। वहीं मामले में बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष समेत दस लोगों पर केस दर्ज किया गया है। 

हाथरस में बसपा की मंडलीय बैठक में हुआ हंगामा:

दरअसल, हाथरस में मथुरा रोड स्थित लुंबिनी वन में बहुजन समाज पार्टी की मंडलीय बैठक में सांसद गिरीश चंद्र बसपा के कई नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए थे। इस दौरान भीम आर्मी के जिला कार्यवाहक रहे कमल ङ्क्षसह समेत अन्य पदाधिकारी व अलीगढ़ से कुछ दिन पहले निष्कासित किए गए पदाधिकारियों ने बैठक में पहुँच कर मायावती हटाओ के नारे लगाना शुरू कर दिया।

जिसके बाद बसपाइयों से धक्का-मुक्की और हाथापाई कर दी। इसमें भीम आर्मी के पूर्व पदाधिकारी कमल घायल हो गये, जिसके बाद उन्होंने कोतवाली हाथरस गेट में तहरीर दी है। उन्होंने दिनेश देशमुख और उनके परिवार के लोगों पर मारपीट, हथियारों से जानलेवा हमले का आरोप लगाया है।

बैठक में थे ये शामिल:

बता दें कि बैठक में मुख्य अतिथि नगीना के सांसद और सेक्टर प्रभारी पश्चिमी यूपी गिरीश चंद्र, सेक्टर प्रभारी शमशुद्दीन राइन, राजकुमार गौतम और डॉ.कमल राज, मुख्य जोन इंचार्ज अलीगढ़ मंडल रनवीर कश्यप, गजराज विमल, रघुवीर ऊषवा, हाथरस के जिलाध्यक्ष महेश बाबू कुशवाहा, अलीगढ़ के तिलकराज यादव, एटा के महेशचंद्र, कासगंज के राजकुमार जाटव आदि मौजूद थे।

वहीं भीम आर्मी के पूर्व पदाधिकारी कमल की तहरीर के बाद पुलिस ने जांच कर कार्रवाई की बात कही है।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)    

Related News

Videos