ये कैसी कानून व्यवस्था, जहां महिला पुलिसकर्मी भी हैं ‘असुरक्षित’

ये कैसी कानून व्यवस्था, जहां महिला पुलिसकर्मी भी हैं ‘असुरक्षित’

उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराध पर सीएम योगी से लेकर डीजीपी ओपी सिंह तक बेहद गंभीर है और विभाग को महिलाओं की सुरक्षा और उनके खिलाफ होने वाली वारदातों पर तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दे रखें हैं लेकिन महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी जिनको दी गयी है, उनके विभाग की महिलाएं ही असुरक्षित है। ऐसे में साथी महिला पुलिसकर्मियों को जब सुरक्षा नहीं मिल सकती तो आम महिलाएं सुरक्षा की आस कैसे रखें।

महिला सुरक्षाकर्मी भी यूपी में नहीं है सुरक्षित:

दरअसल पिछले कुछ दिनों में ऐसे कई मामले सामने आये हैं, जहाँ महिला पुलिसकर्मियों को छेड़छाड़, अभद्रता का सामना करना पड़ा है। वहीं कई मामलों में उनको जिंदा जलाने, हत्या जैसी वारदात भी सामने आई है। सबसे गंभीर मामले तो तब देखने को मिलते हैं जब विभागीय स्तर पर ही उनके साथ दुर्व्यवहार किया जाता है।

बरेली में महिला होमगार्ड को जिंदा जलाया:

एक महिला होमगार्ड पर उस समय हमला हुआ जब वह ड्यूटी पर जा रही थी, बीच राह उसे रोक कर कुछ लोगों ने उसपर केरोसिन उड़ेल कर आग लगा दी। महिला होमगार्ड को आनन फानन में इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जांच के दौरान बाद में पता चला कि महिला होमगार्ड के रिश्तेदारों ने ही उसको मारने की कोशिश की थी।

वूमेन पावर लाइन 1090 की महिला पुलिसकर्मी हो रहीं प्रताड़ित:

कुछ दिनों पहले वूमन पॉवर लाइन में तैनात एक महिला पुलिसकर्मी गर्मी के चलते चक्कर खाकर गिर गयी थी, इसके बाद एक बार फिर दबी जुबान से विभाग में महिला पुलिसकर्मियों को प्रताड़ित करने का मामला सामने आने लगा था।

ये भी पढ़ें: 13 साल की बच्ची का अपहरणकर्ता गिरफ्तार, पास्को एक्ट में गया जेल

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार , वूमेन पवार लाइन 1090 में तैनात महिला दारोगा, सिपाही लगातार प्रताड़ित होते हैं किन्तु अधिकारियों की तानाशाही कार्यशैली के चलते शांत रहते हैं। कर्मचारियों ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि, बीते छह माह में वीमेन पावर लाइन में कई बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं किन्तु अधिकारियों ने छुपा लिया। सामान्य छुट्टी तो छोड़िए तबियत ख़राब होने पर मेडिकल लीव भी नहीं देते हैं।

महिला प्रशिक्षु पुलिसकर्मियों की बैरक में घुसकर छेड़खानी

वाराणसी में पुलिस लाइन में महिला प्रशिक्षुओं के साथ छेड़खानी का मामला भी सामने आया था। देर रात जब सब सो रहे थे तभी एक अज्ञात युवक पुलिस लाइन की दीवार से कूदकर बैरक में हाथ डालकर छेड़खानी करने लगा। इस दौरान जब महिला प्रशिक्षुओं ने बाहर देखा तो सुरक्षा के मद्देनजर कोई भी पुलिस कर्मा वहां तैनात नहीं किया गया था।

महिला दारोगा की हत्या की दी गयी थी सुपारी:

बरेली पुलिस लाइन में तैनात महिला दारोगा रीना कुमारी का शव उनके सरकारी आवास में मिला था। पारिवारिक रंजिश के चलते उनकी हत्या कर दी गयी थी। महिला दारोगा की हत्या की सुपारी दी गयी थी। बेहद बेरहमी से उनकी लगा रेंत कर हत्या की गयी थी।

महिला पीआरडी कर्मी का थानाध्यक्ष करते थे शोषण:

मैनपुरी जिले में महिला पीआरडी कर्मी ने थानाध्यक्ष पर शोषण का आरोप लगाया। दरअसल, एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें महिला पीआरडी कर्मी से थाने में झाड़ू पोछा लगवाया जा रहा था। जिसके बादमहिला पीआरडी कर्मी ने थानाध्यक्ष पर शोषण करने का आरोप लगाया है। वीडियो में वो कहती सुनाई दे रही है कि सफाई कर्मचारी को हटा दिया गया है। थानाध्यक्ष उनसे घरेलू कामकाज करवाती हैं। साफ सफाई के साथ ही कपड़े भी धुलवाए जाते हैं, इंकार करने पर उन्हें नौकरी से हटाने की बात कही जाती है।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)    

Related News

Videos