‘सिपाही मनीष’ ने पिता के चेहरे पर लौटाई मुस्कान, हुई सराहना

‘सिपाही मनीष’ ने पिता के चेहरे पर लौटाई मुस्कान, हुई सराहना

वैसे तो उत्तर प्रदेश पुलिस बहुत बार विवादों में घिरे रहने के कारण चर्चा में बनी रहती है। कभी रिश्वतखोरी को लेकर, तो कभी गलत कार्यों में संलिप्तता के चलते, तो कभी फरियादियों की फ़रियाद न सुनने को लेकर या फिर कभी महिलाओं से अभद्रता करने को लेकर। किन्तु इन सबके बीच यूपी पुलिस में ऐसे भी कर्मचारी हैं, जो अपने कार्यों के चलते लोगों के दिलों पर राज करते हैं।

यूपी पुलिस पूरी निष्ठा से करती है काम

इन दिनों यूपी पुलिस लोगों का मसीहा बनती नजर आ रही है। यूपी पुलिस अपने अच्छे कार्यों से यह साबित कर देना चाहती है कि उसके ऊपर लगने वाले आरोप हमेशा सही नहीं होते। यूपी पुलिस लोगों की रक्षा, सुरक्षा एवं उनकी मदद के लिए तैनात गई है जिसका पालन वह पूरी ईमानदारी व निष्ठा के साथ कर रही है।

बच्ची को रोते देखा

इसी क्रम में यूपी पुलिस की एक मनमोहक तस्वीर सूबे की राजधानी से आई है। यहां मड़ियांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अजीज नगर के पास एक बच्ची खड़ी थी जो लगातार रोए जा रही थी। इसी दौरान UP 100 PRV 0498 के आरक्षी मनीष दिवाकर वहां से गुजरे।

यह भी पढ़ें : अब इन पुलिसकर्मियों का हुआ तबादला, देखें कहीं आपका नाम तो नहीं…

बच्ची को पिता के हवाले किया

बच्ची को रोते देख वह ठहर गए , वहां पता किया तो बच्ची के साथ कोई नजर नहीं आया। तो मनीष दिवाकर बच्ची को प्यार से अपने साथ बैठाया और परिजनों की तलाश में जुट गए। कुछ समय पश्चात् उन्हें अपने कार्य में सफलता मिली और उन्होंने उस मासूम को उसके पिता के हवाले कर दिया।

पिता ने की सराहना

बच्ची के पिता ने बताया कि वह ईद के त्यौहार पर बाराबंकी से मड़ियांव अपने रिश्तेदार के घर आया था। बच्ची घर से कैसे आ गई पता नहीं चल पाया। बच्ची को पाकर वह बेहद कुश हुए और यूपी पुलिस व मनीष दिवाकर की खूब सराहना की।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos