logo

आज ही के दिन कैंसर से हार कर इस जाबांज IPS ने खुद को मारी थी गोली

आज ही के दिन कैंसर से हार कर इस जाबांज IPS ने खुद को मारी थी गोली

महाराष्ट्र के एटीएस चीफ रहे हिमांशु रॉय ने आज के ही दिन खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी।  हिमांशु रॉय 1988 बैच के आईपीएस ऑफिसर थे और सन 2000 से कैंसर से पीड़ित थे और इसी कैंसर से लड़ते-लड़ते वो अपनी जिन्दगी तक से हार गये।

कैंसर से हार गया ये जाबांज अफसर 

ब्लड कैंसर से जूझ रहे रहे इस आईपीएस अफसर स्टेरॉयड लेना पड़ रहा था। 28 अप्रैल 2016 से मेडिकल लीव पर भी चले गए थे। पुलिस के मुताबिक 11 मई 2018 को दोपहर 1:40 बजे हिमांशु ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर मुंह में डालकर गोली मारकर खुदकुशी कर ली। उन्हें बॉम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन बचाया नहीं जा सका।

कई बड़े ऑपरेशनों को किया था लीड

2012-2014 के दौरान ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (क्राइम) रहे रॉय ने आईपीएल सट्टेबाजी की जांच का नेतृत्व भी किया। इसके बाद उनका तबादला एटीएस में हो गया था। बतौर एटीएस चीफ रॉय ने बांद्रा कुर्ला इलाके में एक अमेरिकी स्कूल को विस्फोट कर उड़ाने की साजिश रचने को लेकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर अनीस अंसारी को गिरफ्तार किया था। पत्रकार जेडे मर्डर कांड की जांच भी हिमांशु रॉय की अगुवाई में ही हुई थी।

यह भी पढ़ें : #ETAH- रोते-बिलखते बच्चे का महिला सिपाही बनी थी सहारा, SSP ने दिया सम्मान

हिमांशु देश के उन चुनिंदा ऑफिसर्स में से थे, जिन्हें Z+ कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी। ये सुरक्षा उन्हें मुंबई सीरियल ब्लास्ट केस और इंडियन मुजाहिदीन चीफ यासीन भटकल और दाऊद इब्राहिम की संपत्तियों को ज़ब्त करने की वजह से मिली थी। हिमांशु ने ही दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर के ड्राइवर आरिफ के एनकाउंटर का केस हैंडल किया था।

मुंबई आतंकी हमले में पकड़े गए इकलौते आतंकवादी कसाब को कोर्ट ने फांसी की सज़ा सुनाई थी। उस फैसले को मीडिया के सामने बताने वाले हिमांशु ही थे। 6’2′ इंच का आदमी, भरा-गठा शरीर और बच्चन अमिताभ जैसी बेस वाली आवाज़। आज के ही दिन इस जाबांज अफसर को देश की जनता और विभाग ने खो दिया था।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos