ASP के सामने फूटकर रो पड़ी छात्रा, सवालों का नहीं दे पाए जवाब…

ASP के सामने फूटकर रो पड़ी छात्रा, सवालों का नहीं दे पाए जवाब…

बालिका सुरक्षा जागरूकता अभियान के तहत जिलेभर में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। कहीं रैलियां तो कहीं गोष्ठी का आयोजन कर छात्राओं को टोल फ्री नंबरों की जानकारी दी जा रही है। इसी को लेकर आज बाराबंकी के आनंद भवन विद्यालय में आयोजित बालिका सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम में एएसपी आर.एस. गौतम ने छात्राओं को सुरक्षा के प्रति सचेत करते हुए टोल फ्री नंबरों की जानकारी दी। एएसपी ने कहा कि बालिकाएं सजग रहें और घर उनके साथ कुछ गलत हो तो उसकी जानकारी तुरंत टोलफ्री नंबर पर दें। इतने में ही वहां बैठी एक छात्रा का डर छलक कर सामने आ गया।

छात्राओं के सवाल का जवाब नहीं दे पाये एएसपी

छात्रा ने एएसपी से कहा कि अगर वह भी टोल फ्री नंबर पर शिकायत करती है तो उनका भी एक्सीडेंट करा दिया जाएगा। उन्नाव पीड़िता ने लड़ी विधायक से लड़ाई, तो उसका एक्सीडेंट करा दिया गया। छात्रा ने जब ये सवाल पूछा तो एएसपी हड़बड़ा गये और वो उसे जवाब तक नहीं दे पाये। इस पूरे कार्यक्रम को बाराबंकी के आनंद भवन विद्यालय में आयोजित किया गया था।

जिस समय एएसपी आरएस गौतम छात्राओं को बता रहे थे कि अगर उनके साथ कुछ गलत हो तो तुरंत टोलफ्री नंबर पर जानकारी दें। उसी समय एक छात्रा उठी और एएसपी से सीधा सवाल दाग दिया। सवाल भी ऐसा जिसपर एएसपी आरएस गौतम भी हड़बड़ा गए। दरअसल छात्रा ने कहा कि आपके कहने के मुताबिक अगर हमारे साथ कुछ गलत हुआ, तो हम टोल फ्री नंबर पर फोन करके पुलिस को जानकारी दें। लेकिन हम जिसकी शिकायत कर रहे हैं, अगर उसे इस बात का पता चल गया और उसने मेरा एक्सीडेंट करा दिया। तो क्या होगा। पुलिस मेरी कैसे मदद करेगी। क्योंकि उन्नाव में एक लड़की के साथ एक विधायक ने गलत काम किया और अब जब वह उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रही है, तो उसका एक्सीडेंट करा दिया गया। जिससे अब वह जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है।

छात्रा के इस सवाल पर वहां आए एएसपी आरएस गौतम भी संशय में पड़ गए। उस छात्रा के सवाल का वैसे तो वह कोई संतोषजनकर जवाब नहीं दे पाए। बस उसे टोल फ्री नंबर पर फोन करने का हवाला ही देते रहे। उनका कहना था कि टोल फ्री नंबर पर फोन करने वाली हर शिकायतकर्ता की पूरी मदद की जाएगी।

Read Also: दबंगों ने छात्र को पीट-पीटकर किया लहूलुहान, एफआईआर दर्ज

छात्राओं को अब टोल फ्री नंबर पर फोन करने से लगता है डर

आपको बता दें, उन्नाव कांड के पीड़िता की कार हादसा के बाद से पूरे प्रदेश के लड़कियों में कहीं न कहीं डर बैठ गया है कि अगर उन्होंने भी न्याय के लिए आवाज उठाई तो उन्हें भी खत्म करा दिया जाए। इसी क्रम में बाराबंकी में आयोजित हुए एक कार्यक्रम के अंतर्गत छात्राओं ने एएसपी से कुछ ऐसे सवाल पूछ लिये कि वो उसका जवाब तक नहीं दे पाये। बता दें, इस कार्यक्रम के माध्यम से छात्राओं को उनके हक और न्याय के लिए कैसे आवाज उठानी है इसकी जानकारी देने के लिए गये थे लेकिन पीड़िता के साथ हुए हादसे ने पूरे प्रदेश की अधिकारियों की बोलती बंद कर दी।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos