logo

ad
दारोगा हत्याकांड: हिस्ट्रीशीटर जुनैद आया पुलिस की गिरफ्त में

CCTV की फुटेज

दारोगा हत्याकांड: हिस्ट्रीशीटर जुनैद आया पुलिस की गिरफ्त में

इलाहाबाद में हुई दिनदहाड़े हुई रिटायर्ड दारोगा की हत्या के मामले में जिले की पुलिस टीम (police team) ने हिस्ट्रीशीटर जुनैद को गिरफ्तार कर लिया है। जिले की पुलिस काफी समय से इसकी गिरफ्तारी के प्रयास में लगी हुई थी। आगे की कार्रवाई के लिए अब पुलिस ने इसके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

कई लोग पहले भी हो चुके हैं गिरफ्तार

दरअसल, इस मामले को जब हाईकोर्ट के स्वत: संज्ञान में लिया तो पुलिस महकमे में खलबली मची, जिसके बाद घटना को अंजाम देने वाले तीन आरोपियों में से एक मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस मुख्य आरोपी का नाम यूसुफ बताया गया है, जबकि इब्ने, शेरू की तलाश जारी है।

बताया जा रहा है कि दारोगा को पिटता देख लोग वहां आते-जाते रहे लेकिन किसी ने उन्हें बचाने की कोशिश नहीं की। रिटायर दारोगा का नाम अब्दुल समद खां बताया जा रहा है। ज़मीन विवाद के चलते पड़ोसी दबंगों ने उनकी लाठी डंडों से पीट-पीट कर हत्या कर दी।

यह भी पढ़ेंबांदा पुलिस ने खुद जांच कर युवक को घोषित किया मृत

इसी मामले के तहत पुलिस टीम ने हिस्ट्रीशीटर जुनैद को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इसके मेहदौरी इलाके से गिरफ्तार किया। जिले में इसकी हिस्ट्रिशीट काफी लंबी है, जिकि वीजेएच से पुलिस काफी दिन से इसको ढूंढ रही थी।

आपको बता दें कि, शिवकुटी थाना क्षेत्र के तेलियरंगज सिलाखाना इलाके में रहने वाले रिटायर्ड दारोगा अब्दुल समद की हत्या का आरोप हिस्ट्रीशीटर जुनैद पर लगा है। बताया जा रहा है कि लाखों रुपये कीमत के मकान पर कब्जे को लेकर दोनों के बीच विवाद चल रहा था।

ये था मामला

गौरतलब है कि कुछ बदमाशों ने रिटायर्ड दारोगा मोहम्मद समद को दिनदहाड़े सड़क पर लाठीयों से मारा था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक दारोगा के सिर सहित पूरे शरीर में दर्जनभर से ज्यादा चोटें पाई गईं हैं। डॉक्टरों के मुताबिक शरीर पर गहरी चोट थी, जिससे शरीर के कई हिस्सों की नसें फट गई थीं, जिसके कारण अब्दुल समद की मौत हो गई।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो करें)

Related News

Videos