दबंगों से परेशान किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में दो को ठहराया जिम्मेदार

दबंगों से परेशान किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में दो को ठहराया जिम्मेदार

उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराध पर लगाम नहीं लग पा रही है। अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। इसी क्रम में औरैया जिले से एक दर्दनाक घटना सामने आई है। यहां दबंगो से परेशान होकर एक किसान ने आत्महत्या कर ली। किसान ने आत्महत्या करने से पहले सुसाइड नोट लिखा , उसमें किसान ने दो लोगों को जिम्मेदार ठहराया। घटना अछल्दा थाना क्षेत्र के बंशी गांव की है।

क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार, औरैया जिले के अछल्दा थाना क्षेत्र के बंशी गांव निवासी किसान गोपाल दीक्षित (35) पुत्र बाबूराम ने घर में दूसरी मंजिल पर बने कमरे में रविवार देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह होने पर पत्नी प्रीति ने उन्हें फांसी पर लटका हुआ पाया।  बताया जा रहा है कि किसान की 15 बीघे जमीन कुछ दबंगों द्वारा कब्जा कर ली गई थी। जिससे आहात होकर किसान ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

यह भी पढ़ें : यूपी में आखिर अपराधियों के मन में क्यों नहीं है कानून का खौफ ?

आत्महत्या से पहले लिखा सुसाइड नोट

घटना की जानकारी मृतक की पत्नी ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक कमलेश दीक्षित ने जांच पड़ताल की। मृतक की पत्नी ने राजेंद्र, राजेंद्र के बहनोई सुरेश चंद्र मिश्रा निवासी इटावा व सुनील शाक्य निवासी महाराजपुर के खिलाफ नामजद तहरीर दी है। अपर पुलिस अधीक्षक ने आरोपियों की गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं। पुलिस द्वारा बरामद किए गए सुसाइड नोट में राजेंद्र व उसके बहनोई सुरेश को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है।

(यूपी पुलिस की हर छोटी-बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर पर और व्हाट्सअप भी फॉलो करें)

Related News

Videos